कुल पेज दृश्य

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

बुधवार, 28 मई 2014

पेज /6




      वो तो , पत्थर था !
 लगा तारा है !
  गैर के हाथों में ,
जगमगाया बहुत !


 कुछ तो लम्हे हसीन ,
कम ही मिले !
और कुछ तुमने ,
आज़माया बहुत
---------------------------------- डॉ .प्रार्थना पंडित